Skip to main content

Posts

Showing posts from February, 2013

गंगोत्री

गंगोत्रीदोस्तों पिछले अंक में हमनेउत्तराखंड राज्य आन्दोलनके बारे में लिखा था। आज हम यहाँ पर गंगोत्री के बारे में लिख रहे है। ये वो स्थान है जहा पर गंगा के लिए कठोर तप किया गया था।
     गंगोत्री धाम बड़ा ही सुन्दर और पवित्र धाम है। यहा देवदार(Pine) के वृक्ष अधिक पाए जाते है। इन वृक्षों के कारण यहा की शोभा देखने योग्य है। गंगोत्री भागीरथी के दोनों किनारों पर बसा है। समुद्र ताल से यहा की ऊचाई दस हजार तीन सौ (१०३००) फीट है। एक छोटा सा बाज़ार भी यहा पर है। बाज़ार को पर करने के बाद मंदिर का आँगन शुरू होता है। भागीरथी के दाए किनारे पर गंगा मंदिर बना है। माँ का मंदिर छोटा छोटा है, मंदिर में माँ गंगा की सोने की मूर्ती बनी है और छत्र और मुकुट भी सोने का है। गंगा और यमुना की मूर्तिया बड़ी ही मन-मोहक है। माँ गंगा जी की मूर्ती को आदि शंकराचार्य जी ने स्वयं अपने हाथो से प्रतिष्टित किया था। गंगा और यमुना की मूर्तिया अनेक प्रकार के आभूषणो को धारण किये हुए है। इसके अतिरिक्त मंदिर में शंकराचार्य, भागीरथ, महालक्ष्मी, सरस्वती, शंकर जी और गणेश जी की मूर्तिया विराजमान है। गंगा जी की पूजा प्रतिदिन यहा होती ह…

याद

विदेशी का बैग लेकर टप्पेबाज ट्रेन से कूदा

विदेशी का बैग लेकर टप्पेबाज ट्रेन से कूदा

रुड़की: हरिद्वार गंगा स्नान को जा रहे जापानी नागरिक का बैग चोरी कर टप्पेबाज ट्रेन से कूद गया। घटना सहारनपुर के टपरी रेलवे स्टेशन के समीप हुई। जापानी नागरिक ने रुड़की जीआरपी में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस के अनुसार गुरुवार की सायं को जापानी नागरिक यूसी शौमी नाकाकावा गंगा स्नान के लिए जयपुर से हरिद्वार के लिए अमृतसर-एक्सप्रेस में बैठे थे। शुक्रवार की सुबह ट्रेन सहारनपुर जिले के टपरी स्टेशन से चली। पूर्वाह्न साढ़े दस बजे बाइपास मोड आने पर ट्रेन की गति कम हो गई, जिस पर एक टप्पेबाज बर्थ पर रखे जापानी नागरिक के बैग को लेकर ट्रेन से कूद गया। इस पर जापानी नागरिक ने शोर मचाया, जिस पर ट्रेन में मौजूद टीटी व अन्य सूचना पाकर मौके पर पहुंचे। ट्रेन न रुकने पर करीब एक घंटे बाद जापानी नागरिक रुड़की जीआरपी पहुंचे। यहां दरोगा धीरेंद्र सिंह अधिकारी को जापानी नागरिक ने घटना के बारे में जानकारी दी। जापानी नागरिक ने बैग में आइ-पैड, क्रेडिट कार्ड, एक हजार आस्ट्रेलियन डालर, फ्लाइट की टिकट आदि सामान होने की जानकारी दी। एसएसपी पीआरओ एसएस नेगी ने बताया कि जापानी नागरिक…

उद्यान विभाग सख्त

फलदार वृक्षों के कटान पर उद्यान विभाग सख्त    झबरेड़ा: फलदार वृक्ष काटने के मामले में उद्यान विभाग ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। झबरेड़ा स्थित बाग में एक महीने पहले काटे गए आम के पचास पेड़ों के मामले में जब वन विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की तो उद्यान निरीक्षक ने बाग स्वामियों के खिलाफ झबरेड़ा थाने में मुकदमा दर्ज कराया। झबरेड़ा स्थित एक बाग से एक महीने पहले काटे गए आम के वृक्षों के मामले से संबंधित सूचना वन विभाग को अब जाकर मिली। जिस पर अधिकारियों ने इतनी देर से सूचना मिलने पर बाग स्वामी व वन विभाग के दरोगा की मिलीभगत होने की आशंका जताई। वन विभाग द्वारा इस ओर कोई कार्रवाई न करने पर उद्यान निरीक्षक विशेष सिंह गुरुवार की शाम को बाग का निरीक्षण करने गए थे। जहां पर उन्हें पचास पेड़ कटे होने की जानकारी मिली। जिसमें अधिकतर पेड़ काफी पहले कटे होना पाये गए। जिस पर उद्यान निरीक्षक विशेष सिंह ने झबरेड़ा थाने जाकर बाग स्वामी पुरूषोत्तम व ललित माहेश्वरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। उद्यान निरीक्षक ने कहा है कि बाग स्वामी ने बिना अनुमति के बड़ी संख्या में पेड़ काटे हैं। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर…

बिजली गुल

बिजली गुल: पढ़ाई चौपट पेयजल आपूर्ति भी बाधितविकासनगर: पछवादून में सुबह-शाम हो रही अघोषित बिजली कटौती से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। बिजली कटौती का असर पेयजल आपूर्ति पर भी पड़ रहा है। वहीं शाम को बत्ती गुल होने से बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। पछवादून में आजकल रोजाना सुबह व शाम को कई घंटे की बिजली कटौती हो रही है। सुबह के समय बिजली कटौती से स्कूल जाने वाले बच्चों व दफ्तर जाने वाले नौकरीपेशाओं के साथ ही गृहणियों के घरेलू कामकाज प्रभावित हो रहे हैं। बिजली कटौती से सबसे ज्यादा परेशानी पेयजल आपूर्ति न होने से हो रही है। आमजन को हो रही परेशानियों के बावजूद ऊर्जा निगम लगातार रोजाना बिजली कटौती जारी रखे हुए है। कई दिनों से क्षेत्र में लगातार सुबह शाम हो रही कटौती से लोग परेशान हैं। ऊर्जा निगम द्वारा ढाई से तीन घंटे सुबह और एक से डेढ़ घंटे शाम को लगातार हो रही बिजली कटौती से क्षेत्र का हर वर्ग प्रभावित हो रहा है। जहां एक ओर शाम को लाइट न होने से बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुटे छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है, वहीं दूसरी ओर सुबह होने वाली कटौत…

रोडवेज की दो और बसें

जौनसार-बावर में दौड़ेंगी रोडवेज की दो और बसें   त्यूणी: यात्री बसों की कमी से जूझ रहे जौनसार-बावर में जल्द ही रोडवेज की दो और नई बसें जल्द चलाई जाएंगी। क्षेत्र में यातायात व्यवस्था सुधारने को जिलाधिकारी ने परिवहन निगम अधिकारियों को चकराता और त्यूणी रूट पर रोडवेज बसें संचालित करने के आदेश दिए हैं। डेढ़ लाख से ज्यादा की आबादी वाले जौनसार-बावर में बसों की कमी पिछले कई साल से बनी हुई है। यात्री बस के अभाव में क्षेत्र के सैकड़ों लोग जान जोखिम में डालकर यूटीलिटियों में भर-भरकर सफर करने को मजबूर हैं। वर्तमान में यहां रोडवेज की सिर्फ दो बसें चल रही हैं। इनमें भी हनोल सेवा नियमित रूप से नहीं चल रही है। बसों की कमी और यात्रियों का दबाव छोटे वाहनों को फायदा पहुंचा रहा है। क्षमता से कई गुना ज्यादा सवारियां बैठाने पर ओवरलोडिंग के चलते यहां आए दिन सड़क हादसे होते रहते हैं। जौनसार-बावर में लचर यातायात व्यवस्था सुधारने को जिलाधिकारी डॉ. बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने हाल ही में परिवहन निगम अधिकारियों को चकराता और त्यूणी रूट पर दो और नई रोडवेज बसें चलाने के आदेश दिए हैं। डीएम ने कहा कि जिला प्रशासन क्षेत्र क…

सरकार हवाई यात्रा में मस्त: भट्ट

प्रदेश सरकार हवाई यात्रा में मस्त: भट्ट
 देहरादून: विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार जनता की गाढ़ी कमाई को धुएं में उड़ा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार हवाई यात्रा में व्यस्त है जबकि विकास कार्य चौपट हैं। एक बयान में श्री भट्ट ने कहा कि 31 जनवरी को एक हेलीकाप्टर दो फेरों में कुछ लोगों को रामनगर ले गया। उन्होंने सवाल उठाया कि ये कौन लोग थे जिनके लिए जनता की कमाई हवाई यात्रा में उड़ाई गई। उन्होंने कहा कि राज्य में विकास कार्य चौपट हैं, कई कर्मचारी संगठन अपने वेतन एवं एरियर भुगतान की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं मगर सरकार को इससे कोई लेना-देना ही नहीं है। इस स्थिति में अफसरशाही का हावी एवं बेलगाम होना स्वाभाविक है। श्री भट्ट ने कहा कि उन्होंने अपनी विधायक निधि के 66 प्रस्ताव, जो लगभग 1.50 करोड़ के हैं, मुख्य विकास अधिकारी अल्मोड़ा को भेजे लेकिन एक महीने से ज्यादा होने के बावजूद ये अब तक स्वीकृत नहीं हो पाए हैं। इससे राज्य में विकास कार्यो की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि राजधानी में दि…

मामले सुलझाने की कवायद

वन भूमि से बाधित सड़कों के मामले सुलझाने की कवायद नैनीताल: भीमताल विधानसभा क्षेत्र में वन अधिनियम से बाधित सड़कों के निर्माण के लिए नए सिरे से कवायद शुरू हुई है। विधायक दान सिंह भंडारी ने कहा कि यदि मार्च तक मंजूर सड़कों का निर्माण शुरू नहीं हुआ तो वह मामले को सदन में उठाएंगे। शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता बीएन पांडे से सड़कों के संबंध में वार्ता के बाद नैनीताल पहुंचे विधायक भंडारी ने बताया कि सड़कवार से सुवाकोट-पोखरी तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाइ) के तहत चार किलोमीटर सड़क का दोबारा सर्वेक्षण किया जाएगा। झुपलीबांज-नरतोला सड़क में वन भूमि हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। वालिका से कटनावारी का नया प्रस्ताव बनाया जा रहा है। सिमलिया-साननी सड़क निर्माण जल्द शुरू नहीं हुआ तो अगले वित्तीय वर्ष में इसका निर्माण राज्य सेक्टर अथवा विधायक निधि से कराया जाएगा। परबड़ा-धानाचूली-धारी मिलान सड़क निर्माण के प्रयास जारी हैं। एवरेस्ट विजेता को सम्मान न मिलने पर नाराजगी विधायक भंडारी ने पिछले साल जून में एवरेस्ट फतेह करने वाले कुमाऊं रेजीमेंट के जवान व ओखलकांडा…