Skip to main content

Posts

Showing posts from January, 2013

वृद्ध की मौत

करंट लगने से वृद्ध की मौतलोहाघाट। लगभग 20 किमी. दूर बिंडा तिवारी गांव में बृहस्पतिवार को बिजली का करंट लगने से वृद्ध की मौके पर ही मृत्यु हो गई। सामाजिक कार्यकर्ता एवं भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष ललित कुंवर ने घटना की जानकारी पुलिस एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को दी। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस एवं विद्युत विभाग के अभियंता मौके पर पहुंचे। पंचेश्वर के प्रभारी कोतवाल एसआई खुशाल सिंह के अनुसार टकाना गांव के नयन राम (65) के खेत में नाशपाती का पेड़ था। पेड़ को छूते हुए बिजली के तार निकले हुए थे। नयन राम वहां खेत में काम कर रहे थे, कि पेड़ में आए करंट की चपेट में आ गए, जिनकी मौके में ही मृत्यु हो गई। नयन राम के शरीर में कई जगह जले के निशान हैं, जिससे इस बात की पुष्टि होती है। पुलिस द्वारा शव को अपने कब्जे में लेकर उसका पंचनामा भर उसे पोस्टमार्टम के लिए लोहाघाट भेजा है। कुंवर के अनुसार मृतक का परिवार घोर आर्थिक तंगी से गुजर रहा है। इस घटना के बाद परिवार में बज्रपात हो गया है तथा सभी लोग सहमे हुए हैं। बाद में यहां विद्युत विभाग के अभियंता एचएस धौनी एवं अशोक कुंवर भी मौके में पहुंच गए।खबर:  …

जंगल में आग

आइओसी डिपो के पास जंगल में आग
ल्दूचौड़: इंडियन ऑयल कारपोरेशन (आइओसी) के स्थानीय डिपो के पास जंगल में आग लगने से हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे कोतवाली पुलिस व आइओसी डिपो के अधिकारियों ने हल्द्वानी व सेंचुरी पेपर मिल से फायर ब्रिगेड को बुलाया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। समय रहते आग काबू कर लेने से आइओसी डिपो के टैंक सुरक्षित हैं।गुरुवार अपराह्न आइओसी डिपो के पास राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे जंगल में अचानक आग लग गई। हवा चलने के कारण आग तेजी से जंगल में फैलने लगी। राहगीरों की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे कोतवाली पुलिस व आइओसी डिपो के अधिकारियों ने आननफानन हल्द्वानी व सेंचुरी पेपर मिल से एक-एक दमकल वाहन को बुलाया। लगभग आधा घंटे बाद मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस दौरान अचानक लगी आग से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। घटना स्थल से महज 100 मीटर की दूरी पर आइओसी का विशाल डिपो है। समय रहते आग पर काबू पा लेने से आइओसी डिपो के टैंक पूरी तरह सुरक्षित हैं। कोतवाली के एसआइ बीएस बिष्ट ने बताया कि आग लगने का कारण पता नहीं लग पाया है। शायद क…

मदनराम पहुंचा जेल

मुफलिसी ने मदन को पहुंचा दिया जेल रामनगर: गुलदार की खाल बेचने के मामले में वांछित चल रहा बेरीनाग का मुख्य आरोपी वन विभाग के हत्थे चढ़ गया। विभाग ने आरोपी को एसीजेएम कोर्ट हल्द्वानी में पेश किया। वहां से उसे जेल भेज दिया गया। मामले में एक आरोपी पहले ही जेल में है। बीती 31 दिसंबर को रामनगर वन प्रभाग के वन कर्मियों ने फतेहपुर में बेरीनाग के कांडा निवासी अशोक कुमार को गुलदार की खाल के साथ पकड़ा था। पूछताछ में बेरीनाग के ग्राम बिठौली निवासी मदनराम व नंदकिशोर के नाम भी सामने आए थे। तभी से वन विभाग को उनकी तलाश थी। बुधवार देर शाम एसडीओ आरके तिवारी ने मुख्य आरोपी मदनराम को रामनगर में गिरफ्तार कर लिया। मदनराम ने गुलदार के शिकार की घटना से इन्कार किया। बताया कि मई में उसे किरौली वन पंचायत बेरीनाग में एक मृत गुलदार मिला था। रुपये के लालच में वह गुलदार की खाल निकालकर घर ले आया। कुछ माह खाल को सुखाने के बाद उसने बेचने के लिए गांव के ही नंदकिशोर से संपर्क किया। नंदकिशोर ने भतीजे अशोक कुमार को खाल बेचने के लिए दे दी। जब अशोक कुमार खाल लेकर फतेहपुर पहुंचा तो वह वन कर्मियों के हत्थे चढ़ गया। एसडीओ तिव…

दुर्घटना को निमंत्रण

हाईवे के किनारे दे रहे दुर्घटना को निमंत्रण
रायवाला: हाईवे विस्तारीकरण के लिए मोतीचूर से छिद्दरवाला तक सड़क के किनारों को खोद कर छोड़ा गया है। कछुआ गति से चल रहा विस्तारीकरण का काम राहगीरों के लिए मुसीबत बन रहा है। हाईवे के किनारे की गई कई फिट गहरी खुदाई बड़ी अनहोनी को खुला निमंत्रण दे रही है। सबसे ज्यादा बुरी स्थिति मोतीचूर व लालतप्पड़ छिद्रवाला के पास है। यहां हाईवे के किनारे कई महीनों पहले खोद तो दिए गए, लेकिन भरान करने की सुध अब तक नहीं ली। नतीजा जरा सी लापरवाही हुई या अचानक सड़क के किनारे वाहन उतर गया तो समझो दुर्घटना निश्चित है। सबसे ज्यादा खतरा रात में बना हुआ है। अब तक कई ऐसी दुर्घटनाएं हो भी चुकी हैं, लेकिन निर्माण कर रही कंपनी इस ओर लापरवाह बनी हुई है। खोद कर छोड़ा गया हाईवे व किनारों की मिट्टी कच्ची है जरा सा दबाव पड़ते ही मिट्टी धंस रही है। ऐसे में कभी भी बड़ी अनहोनी से इन्कार नहीं किया जा सकता।
खबर दैनिक जागरण से ली गयी है।

धोखाधड़ी का मुकदमा

दो एमडी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा
     विकासनगर: सेलाकुई स्थित डोभाल क्लोजर कंपनी की मालिक अनुराधा डोभाल ने सोनीपत हरियाणा की एक कंपनी के दो एमडी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया है। सेलाकुई पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार डोभाल क्लोजर कंपनी सेलाकुई की मालिक अनुराधा ने दी तहरीर में सोनीपत हरियाणा में एएमटी ग्लोबल कैप्स प्राइवेट लिमिटेड के एमडी मनीष गोयल व मनोज गोयल पर आरोप लगाया कि वे उनकी कंपनी के बोतल कैप्स के डिजाइन की नकल कर फर्जी तरीके से बोतल कैप्स बना रहे हैं। साथ ही दोनों ने कूटरचित नोटिस तैयार किया हुआ है। इस पर पुलिस ने सोनीपत की कंपनी के एमडी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
खबर दैनिक जागरण से ली गयी है।

Mid-day meal

साक्षरता के लिहाज से अव्वल राज्यों में शुमार उत्तराखंड में प्राथमिक शिक्षा बदहाल है. पांच-दस किमी की दूरी पर सरकारी विद्यालय तो हैं लेकिन  विद्यालयों में पढ़ाई का स्तर बद से बदतर. हालात यह कि  प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में नौनिहाल पढ़ने-लिखने  से ज्यादा दाल-भात (मध्याहन भोज) खाने के लिए दाखिला ले रहे हैं. कक्षा एक से आठवीं कक्षा तक पंजीकृत 10 फीसद नौनिहालों  को हिंदी भाषा में अक्षर ज्ञान तक नहीं है. प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में दाखिला लेने वाले 17 फीसद नौनिहालों को किताब में लिखा हुआ क, ख, ग पढ़ना तो आता है लेकिन अक्षरों को मिलाकर शब्द पढ़ना नहीं. प्राथमिक शिक्षा की बदहाली का आलम यह कि 47 फीसद  नौनिहाल महज कक्षा दो तक की किताबों को ही पढ़ सकते हैं. कक्षा तीन, चार व पांच के पाठ पढ़ना इन नौनिहालों के लिए किसी पहाड़ चढ़ने से कम नहीं हैं. शहर व कस्बों की अपेक्षा ग्रामीण अंचल में प्राथमिक शिक्षा और भी बुरे दौर से गुजर रही है. पृथक राज्य बनने बाद बारी-बारी से सूबे के सत्ता-सिंहासन पर काबिज होने वाले हुक्मरान शिक्षा के स्तर में सुधार लाने का दावा करते रहे. सर्व शिक्षा अभियान…

उत्तराखंड राज्य आन्दोलन

उत्तराखंड राज्य आन्दोलन भाग -1 उत्तराखंड राज्य भले ही 9 नवम्बर 2000 को बना है किन्तु इस राज्य मांग बहुत पुरानी है। सबसे पहले राज्य की मांग सन 1897 में उठी और ये मांग वक्त-वक्त पर उठती रही। सन 1994 में ये मांग आन्दोलन में बदल गयी। और फिर 9 नवम्बर 2000 को इस राज्य का गठन देश के सत्ताईसवे राज्य उत्तरांचल के रूप में हुआ। 
तो आइये जाने uttrakhand andolan का इतिहास 1913           कांग्रेस अधिवेशन में सबसे अधिक प्रतिनिधि शामिल हुए। इसी दौरान उत्तराखंड के अनुसूचित             जातियों के उत्थान के लिए गठित टम्टा सुधारिणी सभा का रूपांतरण एक शिल्पकार महासभा के रूप में हुआ। सितम्बर 1916      हरगोविंद पन्त, गोविन्द वल्लभ पन्त, बद्रीदत्त पाण्डे, इन्द्रलाल शाह, मोहन सिंह दड़म्वाल  चंद्रलाल शाह, प्रेम वल्लभ पाण्डे, और लक्ष्मी दत्त शास्त्री आदि युवको ने कुमओं परिषद की स्थापना की। इस परिषद का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड की आर्थिक व सामाजिक समस्याओ का समाधान खोजना था।  1923-1926        प्रांतीय काउंसिल के चुनाव में गोविन्द वल्लभ पन्त, हरगोविंद पन्त, मुकुन्दी लाल तथा बद्रीदत्त पाण्डे ने विपक्षियो को बुरी तरह …

पलायन की पीड़ा

नाटक में दिखाई पलायन की पीड़ा आयोजित नाट्य महोत्सव के अंतिम दिन प्रस्तुत 'पलायन'न नाटक के जरिए कलाकारों ने अपने अभिनय के जरिए पलायन से खाली होते पहाड़ की पीड़ा को प्रस्तुत किया। वहीं, 'भस्मासुर' व  'सत्यवान-सावित्री' गीत नाटिकाओं को खूब सराहा गया। 'रैबार' संस्था के तत्वावधान में मालवीय उद्यान में चल रहे नाट्य महोत्सव में 'रैबार' संस्था के कलाकारों ने 'पलायन' नाटक की प्रस्तुति के जरिए खाली होते पहाड़ों की पीड़ा के साथ युवाओं में महानगरों की विलासिता की बढ़ती प्रवृत्ति का मार्मिक चित्रण किया गया। तीन भाई गोपाल, मोनी और सोनी की जीवनी पर आधारित नाटक में विलासिता की प्रवृति में घरबार बेचकर महानगर में बसने से खाली होते पहाड़, बेरोजगारी की समस्या व अपनी मातृभूमि के लिए युवाओं में संवेदनहीनता को उजागर किया गया। गोपाल के किरदार में अनुसूया प्रसाद डंगवाल, गोपाल की पत्‍‌नी सावित्री के किरदार में अनिता उपाध्याय के अभिनय को खूब सराहना मिली। 'गढ़कला' संस्था के कलाकारों ने 'भस्मासुर' गीत नाटिका में कलाकारों ने बुद्धि पर अहंकार के हावी ह…

उत्तराखंड के नैटवाड़ में जीप गिरी, 18 मरे

जखोल-नैटवाड़ मार्ग पर मोरी के निकट घुयांघाटी में एक जीप (तूफान) 600 मीटर गहरी घाटी में गिर जाने से कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई. जिला मुख्यालय से लगभग 200 किमी दूर जखोल-नैटवाड़ मार्ग  पर मोरी के निकट घुयांघाटी में मंगलवार शाम एक जीप (तूफान)  600 मीटर गहरी घाटी में गिर जाने से कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई जबकि एक दर्जन से अधिक लोग अभी भी लापता बताये जा रहे हैं. हादसे में लगभग आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हैं. गंभीर रूप से घायलों में से पांच को देहरादून रेफर किया गया लेकिन रास्ते मे एक घायल ने दम तोड़ दिया. मृतकों में 12 लोगों की शिनाख्त की जा चुकी है. इस बीच मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन को घायलों के समुचित उपचार के निर्देश देने के साथ ही दुर्घटना में मृत लोगों के परिजनों तथा घायलों को अनुमन्य राहत राशि तत्काल उपलब्ध कराने को कहा है. सूचना मिलने पर देर रात एसडीएम पुरोला राजकुमार पांडे घटनास्थल पर पहुंचे और राहत और बचाव कार्य शुरू करवाया. इस मार्ग पर हिमपात के बाद पाला गिरने से फिसलन बन…

सालों तक दो-दो जगह से पगार लेते रहे मंत्री

उत्तराखंड सरकार के एक मौजूदा कैबिनेट मंत्री कई साल तक दो-दो जगह से तनख्वाह लेते रहे.      दिलचस्प बात यह रही कि जब सूचनाधिकार की अर्जी लगी तो पहले तो दस्तावेज मुहैया कराने से इनकार कर दिया गया. मामला सूचना आयोग पहुंचा तो पता चला कि उनसे जुड़े दस्तावेज विद्यालय से चोरी हो गए थे जिसकी एफआईआर भी दर्ज करा दी गई थी. मामला मौजूदा परिवहन एवं समाज कल्याण मंत्री सुरेंद्र राकेश से जुड़ा है. राज्य सूचना आयोग की ओर से हरिद्वार के मुख्य शिक्षा अधिकारी की जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सुरेंद्र राकेश 2007 तक बीडी इंटर कॉलेज से भी तनख्वाह लेते रहे जबकि 2002 से 2007 के दौरान वह प्रदेश विधानसभा में बहुजन समाज पार्टी के विधायक भी रहे और बतौर विधायक तनख्वाह लेते रहे. इस मामले में ग्राम सुसाडा, डॉ. सरस्वती नगर हरिद्वार निवासी मांगे राम सिरोही ने बीडी इंटर कॉलेज भगवानपुर के लोक सूचनाधिकारी यानी प्रधानाचार्य से पिछले साल बीडी इंटर कॉलेज में कार्यरत सहायक अध्यापक सुरेंद्र कुमार राकेश की नियुक्ति, वेतन भुगतान, उत्तराखंड विधानसभा में विधायक पद के लिए नामांकन व निर्वाचन आदि से जुड़ी 11 सूचनाएं मांगीं थीं. कॉ…

उत्तराखंड के जांबाजों के अदम्य साहस की दुनिया मुरीद

दुनिया ने भी उत्तराखंड के जांबाजों के अदम्य साहस को सलाम किया है. पर्वतारोहण में अंतरराष्ट्रीय फलक पर पहचान बनाने वाले  भारतीय सेना के कर्नल अजय कोठियाल के  साहस को दुनियाभर के करोड़ों लोग देखेंगे भी. गढ़वाल राइफल्स की चौथी बटालियन के कमान अधिकारी कर्नल कोठियाल मूल रूप से राजधानी देहरादून के वसंत विहार के रहने वाले हैं. वर्तमान में वह सेना मुख्यालय दिल्ली में तैनात हैं. डिस्कवरी चैनल ने 25 व 26 जनवरी को कर्नल कोठियाल के नेतृत्व में माउंट एवरेस्ट पर सफल आरोहण करने वाले भारतीय सैनिकों के साहस व रोमांच का प्रसारण किया. एक घंटे का प्रीमीयर प्रोग्राम रात्रि नौ बजे प्रसारित किया गया. दल ने पिछले साल 26 मई को  सर्वोच्च पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर सफल आरोहण किया था. अभियान दल में भारतीय सेना की सात महिला अफसर भी शामिल थीं. माउंट एवरेस्ट फतह करने के लिए भारतीय सेना की ओर से पहली मर्तबा महिला अफसरों के लिए पर्वतारोहण अभियान चलाया गया था. देहरादून की रहने वाली कैप्टन नम्रता राठौर भी माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराने वाली सेना की सात महिला अफसरों में शामिल रही. खास बात यह कि दून निवासी कर्नल अजय कोठिय…

रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर बिखेरे इंद्रधनुषी रंग

रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर बिखेरे इंद्रधनुषी रंग अल्मोड़ा। राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बसर का वार्षिकोत्सव धूमधामपूर्वक मनाया गया। इस मौके पर छात्र-छात्राओं ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर लोक संस्कृति की छटा बिखेरी।
इस अवसर पर हुई सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में पंकज तिवारी प्रथम, बबलू आर्या द्वितीय, बबीता कांडपाल तृतीय रहे। जूनियर वर्ग में ज्योति कांडपाल, सोनू जोशी, अमित कुमार क्रमश: प्रथम, द्वितीय, तृतीय रहे। अशोक कुमार रावत ने विद्यालय की प्रगति आख्या प्रस्तुत की। वक्ताओं ने छात्र-छात्राओं से लक्ष्य प्राप्ति के लिए मेहनत से पढ़ाई करने का आह्वान किया। 
इस मौके पर प्रधान गिरीश चंद्र कांडपाल, पूर्व प्रधान पूरन चंद्र, पीटीए अध्यक्ष देवी दत्त कांडपाल, एसएमसी अध्यक्ष जगदीश कांडपाल, जयकिशन तिवारी, सरपंच राम किशन, हरीश चंद्र कांडपाल, सामाजिक कार्यकर्ता मीना देवी, अशोक कुमार रावत, दीप चंद्र पांडेय, उदय राज, विक्रम साह, ओमप्रकाश देव, महेंद्र सिंह शाही, अनीता पांडेय, ज्योति भारती, वीरेंद्र सिंह, बहादुर सिंह आदि मौजूद थे।

पेड़ से टकराई बस, छह यात्री घायल

पेड़ से टकराई बस, छह यात्री घायल     काशीपुर। स्टेयरिंग लॉक होने से एक प्राइवेट बस सड़क किनारे पेड़ से जा टकराई। दुर्घटना में बस में सवार आधा दर्जन यात्री घायल हो गए। चार गंभीर घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि दो को उपचार के बाद घर भेज दिया गया।
जानकारी के अनुसार रामनगर से मुरादाबाद जा रही एक प्राइवेट बस रविवार देर शाम हरियावाला के निकट अचानक सड़क किनारे पेड़ से टकरा गई। दुर्घटना होते ही बस में सवार यात्रियों में चीख पुकार मच गई। बस में सवार करीब 30 यात्रियों में से छह यात्री घायल हो गए। चांदबाग दिल्ली निवासी संजय (42) पुत्र शिवकुमार, कांता देवी (60) पत्नी लोकमन सिंह और होरी सिंह (70) पुत्र जागन सिंह निवासी गोपीवाला ठाकुरद्वारा, पीपलसाना भोजपुर मुरादाबाद निवासी हाजी बब्बन (60) पुत्र हाजी इवाज को गंभीर हालत में सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया, जबकि दो को एक निजी अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। इधर, सीओ देवेंद्र पिंचा ने बताया यात्रियों के अनुसार बस का स्टेयरिंग अचानक जाम हो गया था, जिससे बस एक ओर जाकर पेड़ से जा टकराई।

कंप्यूटर जैसा तेज है सात साल की दीया का दिमाग

कंप्यूटर जैसा तेज है सात साल की दीया का दिमागदीया की उम्र सात साल है और कक्षा तीन में पढ़ती है लेकिन दिमाग कंप्यूटर की तरह तेज है।  उसे आईआईटी स्तर के फिजिक्स के पांच सौ  से अधिक फार्मूले याद हैं।
बीएससी स्तर के गणित के सूत्रों को पलक  झपकते वह हल कर देती है। कंप्यूटर के  की-बोर्ड को आंख बंद करके बता देती है। उसकी प्रतिभा को देखते हुए उसके परिजन इस साल बारहवीं या बीएससी की परीक्षा दिलवाना चाहते हैं। इस अनोखी प्रतिभा का नाम है दीया नेगी। शिवपुर की रहने वाली दीया के पिता मनोज कहते हैं मोटिवेट करने के लिए दीया को आगे बढ़ाना जरूरी है। मेरा प्रयास है कि इस साल वह कक्षा बारहवीं या बीएससी स्तर की परीक्षा में बैठे। वह बताते हैं कि गणित और विज्ञान में दीया की प्रतिभा गजब की है। एक बार वह जो फार्मूला सुन या पढ़ लेती है उसे कभी नहीं भूलती। दीया के पिता कोचिंग क्लास चलाते हैं। वह बताते हैं कि तीन साल पहले मैं ट्यूशन के दौरान दसवीं के विद्यार्थियों को गुणांक के सूत्र पूछ रहा था, तभी दीया ने कहा कि यह मुझे आते हैं। फिर उसने सारे सूत्र सही-सही बता दिए।      नेगी के अनुसार, बिना पढ़े इतने सूत्र बताने के बा…

चौखुटिया की छह छात्राओं ने पहली बार एनसीसी ज्वाइन की

चौखुटिया की छह छात्राओं ने पहली बार एनसीसी ज्वाइन की    चौखुटिया। ग्रामीण परिवेश की बेटियों का दृष्टिकोण भी अब तेजी से बदल रहा है। पहले की भोली, शर्मीली घरेलू महिला बनने के बजाए उनमें सेना में तक जाने की लालसा पैदा होने लगी है। जीआईसी चौखुटिया में एनसीसी 35 साल से चल रही है लेकिन यह पहला साल है जब छात्राओं ने एनसीसी में प्रवेश लिया है। यहां छह छात्राओं ने एक साथ एनसीसी ज्वाइन की है। यह सभी छात्राएं सेना में आकर देश सेवा करना चाहती हैं। बीते कुछ सालों से महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं लेकिन ग्रामीण इलाकों में आज भी लड़कियां सेना में जाने से हिचकिचाती रही हैं। इसी कारण छात्राएं एनसीसी में भी प्रवेश नहीं लेती थीं लेकिन पिछले कुछ समय से बेटियों और उनके अभिभावकों की सोच तेजी से बदल रही है। कल तक घर से बाहर कदम रखने में घबराने वाली ग्रामीण परिवेश की लड़कियां अब सेना जैसी नौकरियों में जाने की ठान रही हैं। जीआईसी चौखुटिया में 1977 में एनसीसी (नेशनल कैडेट कोर) की शुरूआत हुई थी। 35 साल के लंबे अंतराल में पहली बार इस विद्यालय की ग्यारहवीं की छह छात्राओं ने एनसीसी ली है। जिनमें हेमा बिष्ट,…

एनआईटी-बी ने देवलगढ़ को पछाड़ा

एनआईटी-बी ने देवलगढ़ को पछाड़ा
   श्रीनगर। गढ़वाल विवि के प्रशासनिक भवन परिसर स्थित वॉलीबाल मैदान में प्रथम शीतकालीन वॉलीबाल प्रतियोगिता बृहस्पतिवार से शुरू हुई। पहले दिन हुए मैचों में जीत दर्ज कर जीआईसी डांगचौरा, पुलिस लाइन पौड़ी, गुरुरामराय श्रीनगर और पुलिस थाना श्रीनगर ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया। 
प्रतियोगिता का उद्घाटन अवसर पर पर्यावरणविद जगत सिंह जंगली, लखपत सिंह भंडारी और शहर कांग्रेस अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह नेगी ने संयुक्त रूप से खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर किया। बृहस्पतिवार को पहला मैच एनआईटी-बी और देवभूमि क्लब देवलगढ़ के बीच खेला गया, जिसमें एनआईटी-बी ने देवलगढ़ को 2-1 से पराजित किया। दूसरा मैच एनआईटी-ए और बीपीएड की टीम के बीच हुआ, जिसमें एनआईटी-ए ने 2-1 से विजय प्राप्त कर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। प्रतियोगिता का क्वार्टर मैच जीआईसी डांगचौरा और एसजीआरआर श्रीनगर के बीच खेला गया। इस मैच में डांगचौरा ने सीधे सेटों में 2-0 से जीत लिया।
      दूसरा क्वार्टर मैच एनआईटी और पुलिस लाइन पौड़ी के बीच खेला गया। मैच को पुलिस लाइन पौड़ी ने 2-0 से जीतकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। तीस…

दंपति की मौत, आत्महत्या या फिर कुछ और

दंपति की मौत, आत्महत्या या फिर कुछ औररुद्रपुर। संदिग्ध हालात में दंपति की मौत हो गई। दोनों के शव बंद कमरे में मिले। पति का शव खिड़की के हैंडल में शर्ट के सहारे लटका हुआ था। जबकि पत्नी की लाश बिस्तर पर पड़ी हुई थी। दोनों शवों को पोस्टमार्टम को भेज दिया गया है। पुलिस के मुताबिक मौत के कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चलेगा। कमरा अंदर से बंद होने की वजह से पुलिस मामले को प्रथमदृष्टया आत्महत्या मान रही है।
मूलरूप से बरेली के थाना फतेहगंज, तहसील आंवला के ग्राम लाहौरी निवासी गजेंद्र (30), पत्नी मंजू (27) के साथ रम्पुरा वार्ड नंबर आठ में किराए पर रहता था। वह सिडकुल स्थित एक फैक्ट्री में काम करता था। गुरुवार सुबह गृहस्वामी अशोक और उसकी पत्नी रामश्री कहीं चले गए थे। शाम करीब चार बजे रामश्री घर पहुंची तो गजेंद्र का कमरा बंद था। उसने दोनों को आवाज दी तो कोई जवाब नहीं मिला। खिड़की से झांकने पर गजेंद्र का शव हैंडल पर लटका हुआ दिखा। उसने शोर मचाया, शोर शराबा सुनकर आसपास के लोग मौके पर एकत्र हो गए और दरवाजा तोड़ अंदर घुसे। जहां गजेंद्र खिड़की के हैंडल में शर्ट से फंदा डालकर लटकता हुआ …

वंश नहीं पीढ़ियां याद रखेंगी कनिका को

वंश नहीं पीढ़ियां याद रखेंगी कनिका को   हल्द्वानी। बेटियों ने हमेशा वर्जनाएं तोड़कर साहस का परिचय दिया है। बस सदियों के साथ चेहरे बदले हैं और गार्गी, रानी लक्ष्मीबाई जैसे कई नामों से हमारा इतिहास समृद्ध हुआ। इतिहास बनने का सिलसिला अनवरत है। इसलिए बृहस्पतिवार को ‘बेटी बचाओ दिवस’ पर इसमें कनिका जोशी का नाम जोड़ना भी जरूरी हो जाता है। दुख है कि ठीक इस दिन एक बेटी को अपनी मां को मुखाग्नि देनी पड़ी। गर्व है कि एक बेटी ने ठीक इस दिन वह रूढ़ी तोड़ी जिसकी जिम्मेदारी समाज के कुछ ठेकेदार केवल एक बेटे को देते हैं। हालांकि हमारे धर्म ग्रंथों में ऐसा कहीं उल्लेख नहीं है कि ये काम बेटा ही करेगा। 
हल्द्वानी के दीक्षांत इंटरनेशनल स्कूल में प्रशासनिक समन्वयक के पद पर कार्यरत कानिका जोशी अपने माता-पिता की इकलौती संतान हैं। उनका पद कुछ भी हो लेकिन उनकी करनी एक शिक्षक की तरह प्रेरणा है उनके लिए जो बेटियों के खिलाफ हैं। कनिका सीख हैं उनके लिए जो बेटे और बेटियों में सिर्फ इसलिए अंतर करते हैं कि बेटा वंश बढ़ाएगा, बुढ़ापे का सहारा बनेगा, मृत्यु के बाद मुखाग्नि देकर 82 लाख योनियों से मुक्ति दिलाएगा। तीस साल क…

हरिद्वार सहकारी समिति का निबंधक घूस लेते गिरफ्तार

उत्तराखंड विजिलेंस ने हरिद्वार सहकारी समिति के सहायक निबंधक को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि उमराव सिंह सैनी को बुधवार देर शाम शिकायतकर्ता जगदीश शर्मा के घर से तब गिरफ्तार किया गया जब वह उनसे घूस की पहली किश्त के रूप में एक लाख रुपये ले रहा था. शर्मा ने विजिलेंस विभाग में शिकायत की थी कि सैनी उनकी पेंशन और ग्रेच्युटी के कुल 13 लाख रुपये का भुगतान करने के बदले उनसे रकम का 25 प्रतिशत हिस्सा यानी तीन लाख 25 हजार रुपये रिश्वत के रूप में मांग रहा है. शर्मा पिछले साल दिसंबर में ही सहकारी समिति के सचिव पद से सेवानिवृत्त हुए हैं. सूत्रों ने बताया कि आरोपी सैनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उसकी चल और अचल संपत्ति की जांच की जा रही है.

कैबिनेट में अनदेखी से राजभवन खफा

कैबिनेट प्रस्ताव को लेकर यों तो मंत्रीपरिषद के सदस्यों पर सवाल उठते रहते हैं, लेकिन अब राजभवन ने भी उंगली उठा दी है. उसने कैबिनेट प्रस्ताव राजभवन को तय समय पर  उपलब्ध न कराने कर कड़ा एतराज जताया है. सचिवालय अनुदेशक के अनुसार कैबिनेट बैठक  से दो दिन पूर्व मंत्रिपरिषद के सदस्यों को कैबिनेट  बैठक का प्रस्ताव भेजना अनिवार्य होता है. जबकि ऐसा  शायद की कभी होता हो, अमूमन कैबिनेट से संबंधित  प्रस्ताव मंत्रिगणों को अंतिम क्षण में प्राप्त होते हैं. एजेंडे का सही तरह से अध्ययन न कर पाने के चलते  कई बार मंत्रियों के लिए बैठक में चर्चा करना संभव नहीं हो पाता. इसके चलते कई मर्तबा कैबिनेट से पारित प्रस्ताव भी शासन में दफन होकर रह जाते हैं.मंत्रिपरिषद के सदस्यों द्वारा इस संबंध में कई पर शिकायत की जा चुकी है. जबकि अब राजभवन ने भी शासन की इस कार्यप्रणाली पर उंगली उठा दी है. प्रमुख सचिव राज्यपाल अशोक पई की ओर से इस संबंध में मुख्य सविच को पत्र लिखकर आपत्ति जतायी गई है, जिसमें कहा गया है कि कैबिनेट बैठक से संबंधित प्रस्ताव राजभवन को तय समय पर उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं. कई बार तो बैठक के कई दिनों बाद प्रस…

Kanchi Dham (कैंची धाम)

पृथ्वी पर स्वर्ग का दूसरा नाम है कैंची धाम


   हिमालय की गोद में बसा उत्तराखंड प्रकृति की अमूल्य अलौकिक धरोहर है। यहां की पावन रमणीक वादियों में पहुचते ही सांसारिक मायाजाल में भटके मानव की समस्त व्याधिया यूं शांत हो जाती है, जैसे की लौ पाते ही तिनका भस्म हो जाता है। यहां के ऐतिहासिक धरोहर रुपी रमणीय गुफाए मनभावन मंदिर यहां आने वाले हर आगन्तुक को अपनी ओर आकर्षित करने में पूर्णतया सक्षम है। ऋषि-मुनियों की आराधना व तपस्थली के रूप में प्रसिद्ध इस पावन भूमि के पग-पग पर देवालयों की भरमार है। सुंदर निर्झर झरने कल-कल धुन में नृत्य करती नदिया अनायास ही पर्यटकों व श्रद्धालुओ को बरबस ही अपनी ओर आकर्षित कर लेते है। देवभूमि उत्तराखंड की अलौकिक वादियों में से एक दिव्य रमणीक लुभावना स्थल है "कैंची धाम"। कैंची धाम जिसे नीम किरौली धाम भी कहा जाता है, उत्तराखंड का एक ऐसा तीर्थस्थल है, जहां वर्षभर श्रद्धालुओ का तांता लगा रहता है। अपार संख्या में भक्तजन व श्रद्धालु यहां पहुचकर अराधना व श्रद्धा पुष्प श्री नीम किरौली के चरणों में अर्पित करते है। हर वर्ष १५ जून को यहां एक विशाल मेले व भंडारे का आयोज…

प्राक्रतिक सौन्दर्य का अनूठा नज़ारा है डोडिताल

प्राकृतिक सौन्दर्य का अनूठा नज़ारा है डोडिताल    नैसर्गिक सौन्दर्य का स्वामी डोडिताल ट्रैकिंग करने वालो के लिए स्वर्ग समान है। चारों तरफ से रमणीय घाटी से घिरे डोडिताल की अनुपम छटा देखते ही बनती है। अद्भुत सौन्दर्य की छटा बिखेरते ऊंचे पहाड़ किसी अप्रितम सुन्दरी से कम नहीं लगते। आसमान से छूते पहाड़ों के सीने पर चढ़ते हुए आसपास के मनोरम दृश्य व झरनों से गिरते जल की कल-कल करती कर्णप्रिय ध्वनी  पर्यटकों में नव-चेतना का संचार कर जाती है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह सबसे उपर्युक्त स्थान है। प्राकृतिक झरने व चश्में, घने व हरे-भरे जंगल, दुर्लभ किस्म के पक्षियों को देखने व दुर्गम पहाड़ों पर चढ़ने की चुनौती देने वालों के लिए एक सही चुनाव है डोडिताल। स्वच्छ झरनों, हरियाली से भरपूर जंगलों के बीच पहाड़ों में ट्रैकिंग करते हुए समुद्रतल से ३३०७ मीटर की ऊंचाई पर डोडिताल की यात्रा एक अनूठा अनुभव है जो कि पर्यटकों के लिए रमणीक साबित हो सकता है। उत्तराखंड की सुप्रसिद्ध पर्यटन नगरी उत्तरकाशी से केवल ३९ किमी कि दूरी पर एक घटी में चरों ओर वृक्षों से घिरा हुआ है डोडिताल। हिमालयन क्षेत्र में यहाँ प्राकृतिक सौन…

तीन घंटे खौफ में रहे लोग

  खटीमा। विद्युत विभाग इन दिनों शायद कुछ ज्यादा ही व्यस्त है। इसकी बानगी शुक्रवार सुबह देखने को मिली। सितारगंज रोड में आबादी के ऊपर से गुजर रही 11 हजार केवीए की विद्युत लाइन का तार अचानक एक घर के आंगन में गिर गया लेकिन आपूर्ति काटने में बिजली विभाग को करीब तीन घंटे का समय लग गया। अलबत्ता कोई दुर्घटना नहीं घटी। जिस घर में यह तार गिरा उस घर के लोग तीन घंटे तक दूसरे घर में रहे। इधर, बीती रात्रि ढाई बजे के बाद से बिजली गुल है। 
     भूड़ गांव में आबादी के बीच से गुजर रही 11 हजार केवीए की लाइन का एक तार सुबह छह बजे मढई लाल के घर के आंगन में गिर गया। ग्रामीणों की सूचना के तीन घंटे बाद मौके बिजली कर्मी पहुंचे। ग्रामीणों का आरोप था कि इस दौरान कंजाबाग रोड स्थित बिजली घर का टेलीफोन नंबर मिलाया गया तो वह खराब निकला। भले ही कोई दुर्घटना न घटी हो लेकिन विद्युत कर्मियों की लेटलतीफी और बिजली घर का टेलीफोन नंबर खराब होने का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ सकता था। जेई पवन कुमार ने बताया कि बारिश की वजह से सभी फीडरों में आपूर्ति बाधित रही। उन्होंने कहा कि टूटा हुआ तार जोड़ दिया गया है। उन्होंने कहा कि अब…

दुकानों के शटर तोड़ नकदी लेकर चोर चंपत

रानीखेत। बृहस्पतिवार की रात चोरों ने यहां गांधी चौक और सदर बाजार स्थित दो दुकानों के शटर तोड़कर 27 हजार रुपये की नकदी पर हाथ साफ कर लिया। सुबह शटर टूटा देख दुकान स्वामियों के होश फाख्ता हो गए। अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। इधर वारदात के बाद अब पुलिस ने बाहरी लोगों के सत्यापन का कार्य शुरू कर दिया है।
     जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार की रात चोरों ने यहां गांधी चौक स्थित सूरजमल रमेश चंद्र की दुकान पर धावा बोल दिया। चोर शटर का ताला तोड़कर अंदर घुसे और गल्ले से 25 हजार रुपये की नकदी चोर ली। रात्रि में ही चोरों ने सदर बाजार स्थित केएन भगत के जनरल स्टोर में भी धावा बोला। यहां चोरों ने शटर का ताला तोड़ा और अंदर बैग में रखे 25 सौ रुपये की नकदी चुरा ली। घटना के बाद व्यापारियों में रोष व्याप्त है। व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष मोहन नेगी, नगर अध्यक्ष यतीश रौतेला, महासचिव मनोज अग्रवाल ने भी पीड़ित व्यापारियों से मुलाकात की और सहयोग का भरोसा दिलाया। कोतवाल कमल राम ने बताया कि रात्रि दो बजे तक वह स्वयं गश्त पर थे। इसके बाद बारिश शुरू हो गई। सुबह के समय चोरी होने का अनुमा…

उत्तराखंड में भारी हिमपात, बारिश

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में शुक्रवार को जबरदस्त हिमपात हुआ वहीं मैदानी इलाकों में तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हुयी. पर्यटन स्थल मसूरी और धनौल्टी में बर्फ की पतली चादर सी बिछ गयी.
मौसम विभाग ने बताया कि देहरादून में 62.4 मिलीमीटर बारिश हुयी. मुक्तेश्वर में 48.4 मिलीमीटर और टिहरी में 43.0 मिलीमीटर बारिश हुयी. पिथौरागढ में 29.4 मिलीमीटर, नैनीताल में 27.2 मिलीमीटर और पंतनगर में 15.4 मिलीमीटर सहित कुछ अन्य स्थानों पर बारिश हुयी. देर रात हुयी बारिश और हिमपात के कारण सुबह में अधिकतर इलाकों में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गयी. देहरादून में 9.3 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया. गुरुवार को 10.56 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था. कुछ दिनों से जारी भीषण शीतलहर से राहत के बाद हुयी बारिश से मैदानी भागों में तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गयी है.

टाइगर रिजर्व के पास मृत मिली बाघिन

कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के बफर जोन में संदिग्ध परिस्थिति मेंशुक्रवार को एक बाघिन का सड़ता हुआ कंकाल पाया गया. कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक रंजन कुमार मिश्रा ने बताया कि आरक्षित वन के झिरना रेंज में एक जलसोत के निकट छह से सात साल की बाघिन का कंकाल पाया गया.मिश्रा ने बताया कि बाघिन तकरीबन एक हफ्ते पहले मरी होगी क्योंकि यह अब सड़ने लगी है अधिकारी ने बताया कि जिस जगह से बाघिन का कंकाल बरामद किया गया उसके इर्दगिर्द की बस्तियों में गुज्जर और पारंपरिक शिकारी रहते हैं. बाघिन के ज्यादातर पैर सलामत हैं. इससे बाघित की मौत पर शंका हो रही है.मिश्रा ने बताया कि बाघिन का कंकाल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है ताकि उसकी मौत का कारण निर्धारित किया जा सके.उन्होंने बताया कि 10 दिन पहले उसी जलस्रोत के निकट किसी जंगली जानवर ने एक गाय को अपना शिकार बनाया था.

महिला की सुरक्षा के लिए निकाय का गठन

उत्तराखंड सरकार ने भी महिलाओं के खिलाफ अपराध की  शिकायतों के लिए एक विशेष महिला सहायता निकाय गठित किया है. दिल्ली के सामूहिक बलात्काड कांड के बाद देशभर में महिलाओं की सुरक्षा के लिए उठाये जा रहे कदमों के बीच उत्तराखंड सरकार ने भी महिलाओं के  खिलाफ अपराध की शिकायतों के लिए शुक्रवार को देहरादून में एक विशेष महिला सहायता निकाय गठित किया.उसने मुश्किल में फंसी महिलाओं की शिकायत दर्जकरने के लिए शुल्कमुक्त एक हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया.पुलिस महानिदेशक सत्यवत बंसल ने बताया किनिकाय राज्य पुलिस मुख्यालय में काम करेगा और उसकीअगुवाई एक वरिष्ठ महिला पुलिस अधिकारी करेगी. वह महिलाओं के खिलाफ अत्याचार से जुड़ी शिकायतें निबटाएगा.

जानलेवा बीमारी का टीका बनाया दिव्या ने

कुमाऊं विवि की छात्रा रही दिव्या गोयल को शंघाई में अंतराष्ट्रीय युवा वैज्ञानिक पुरस्कार से नवाजा गया है. यह पुरस्कार चेचक के टीके के जनक एडर्वड जेनर के नाम पर दिया जाता है. दिव्या की खोज इस मायने में भी महत्वपूर्ण है कि उनके बनाए टीके को जैविक हथियारों के विरुद्ध भारतीय सैनिकों में प्रतिरोधक वैक्सीन के रूप में प्रयोग किया जा सकता है. दिव्या ने गायों से मनुष्य में आ सकने वाली जानलेवा ब्रूसलोसिस बीमारी की रोकथाम का टीका विकसित कर और उसका चूहों में सफल परीक्षण कर यह पुरस्कार दुनियाभर के 175 प्रतिभागियों के बीच आयोजित प्रतियोगिता के जरिए ‘एडर्वड जेनर इंटरनेशनल यंग साइंटिस्ट अवार्ड-2012’ हासिल किया है. मूलत: दिल्ली निवासी दिव्या ने दिल्ली विवि से बीएससी करने के बाद कुमाऊं विवि के जैव प्रौद्योगिकी विभाग से विभागाध्यक्ष डा. बीना पांडे के निर्देशन में वर्ष 2005 से 2007 के बीच एमएससी की डिग्री हासिल की है. यहां से वह वापस दिल्ली गई और संयोग से कुमाऊं विवि के वर्तमान कुलपति डा. राकेश भटनागर के अधीन ही जवाहर लाल नेहरू विवि से शोध कर उन्हें बीती 31 दिसम्बर को पीएचडी अवार्ड हुई है. उसका यह शोध दुन…